Hindi (India)English (United Kingdom)
DSCN1617.jpg

स्पर्धा

व्यवसाय खेल प्रतिस्पर्धा

कड़ी उतनी मजबूत है जितना  इसका कमजोर सेतु ......

इस समय बाजार उतनी तेजी से नहीं बढ़ रहे है जितनी तेजी से क्षमताएं बढ़ रहीं है । इसके परिणामस्वरुप भारी प्रतिस्पर्धा निर्मित हो रही है । परिणामस्वरुप फर्मे एवं संगठन इस तरह की अत्यधिक जटिल एवं अनिश्चित स्थितियों में बने रहने के लिए तरीके ढ़ूढ रहे है । प्रबंधन चलनों में उस तरह का आधुनिक उन्नयन संगठनों को, दीर्घकालिन सहायता एवं सहकारिता संबंधो के माध्यम से उनके ग्राहको एवं आपूर्तिकारों को देखना है । परिणामस्वरुप अब प्रतिस्पर्धा व्यष्टि फर्मो के बीच ही नहीं रह गई है बल्कि फर्मो के नेटवर्क के बीच हो गई है जिसमें आपूर्तिकार, ग्राहक एवं सामग्री और सेवाओं के उत्पादक शामिल है । ऐसा नेटवर्क या आपूर्ति श्रृंखला व्यष्टि फर्मो / संगठनों के नियंत्रक सिद्धांतो से बहुत अलग सिद्धांतो पर प्रचालित करनी होंगी । हालांकि आपूर्ति श्रृंखला बहुत पुराने जवाने से चली आ  रही है । लेकिन आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन औपचारिक प्रबंधन अनुशासन के रुप में नई खोज है ।

उपर्युक्त तर्क के परिप्रेक्ष्य में यह अत्यंत स्पष्ट है कि यदि किसी कंपनी को अपनी कुल लागत, गुणवत्ता, चक्रीय समय और प्रौद्योगिकी का प्रबंधन करना है तो इस आपूर्ति श्रृंखला के प्रबंधन की आवश्यकता है । अतएव यह खेल समर्थक गतिशील आपूर्ति श्रृंखला चलनों से संबंधित अनेक चुनौतियों पर ध्यान देते हुए डिजाइन की गई है जब कि खेल का नियम अत्यधिक सहज है ताकि अधिक संख्या में प्रतिस्पर्धी इसमें भाग ले सकें ।

प्रतिभागी

दो आकार की टीमें बी स्कूल और कॉर्पोरेट दोनों से भाग ले सकती है । वेब लिंक पर उपलब्ध मामला अध्ययन के आधार पर टीमों को प्रदर्शित किया जाएगा ।

www.lakshya-nitie.com. मामले के हल के मूल्यांकन द्वारा छ: टीमें चुनी जाएंगी । हर टीम को एक पी सी दिया जाएगा जो केंद्रीय सर्वर से सूचना लेगा ।