Hindi (India)English (United Kingdom)
ALW_0127.JPG

सी आय इ

उन्नयन केंद्र एवं उद्यमता (सी आई ई)

भारत अवसरों का देश है । किंतु हर अवसर के लिए एक पारखी उद्यमी की नजर होनी चाहिए       

विद्यार्थी समुदाय के पास अपार क्षमता है । भारत में तीव्र वृद्धि से उद्यमी के लिए अपार संभावनाएं हैं । इस क्षमता का उपयोग करने के लिए उन्नयन एवं उद्यमी केंद्र नीटी में २००३ में स्थापित किया गया था  जो राष्ट्र के समग्र विकास के लिए योगदान दे रहा है ।

सी आई ई विद्यार्थी चालित एवं संकाय का मार्ग दर्शन प्राप्त नीटी का उद्यमी कक्ष है । सी आई ई का मिशन विद्यार्थियों की शिक्षा एवं विकास जो अपनी उद्यमी भावना को पूॅजीकृत करना चाहते हों उसे सुगम बनाना है ।

उद्देश्य 

उपर्युक्त के अनुसार सी आई ई के निम्न उद्देश्य हैं :

व्याख्यानों एवं कार्यशालाओं के जरिए उद्यमी सिद्धांत एवं चलन में ज्ञान एवं अंतर्दृष्टि का प्रसार करना ।

उद्देश्यों को पूरा करने के लिए अन्य बी स्कूलो एवं प्रौद्योगिकी संस्थानों में समान निकायों के साथ सहयोग करना ।

उद्यमियों के भूमंडलीय नेटवर्क से संबंध जोड़ने के लिए गैर लाभ उद्यमी संगठनों के साथ गठबंधन करना ।

सफल उद्यमियों का एक शक्तिशाली नेटवर्क निर्मित करना जो उभरते उद्यमियों को गाइड कर सके ।

कई वर्षो से विद्यार्थियों में उद्यमी कौशल को प्रोत्साहित करने के लिए सी आई ई अनेक गतिविधियॉ करता आ रहा है । यह विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग,(ई डी सी) भारत सरकार द्वारा समर्थित उद्यमी विकास कक्ष के साथ निकट सहयोग से कार्य करता है ।

सी आई ई, एक झलकी

इनफ्लेमर :

सी आई ई का फ्लैगशिप समारोह जिसमें उद्यमी विकास पर उन्नयनकारी प्रतिस्पर्धाएं एवं अंतरसंवेदी सत्र आयोजित किए जाते हंै । विद्यार्थी उद्यम स्पर्धा (जिसका वर्णन नीचे किया गया है) इनफ्लेमर- २००७ का एक हिस्सा है ।

आत्मकथा सत्र :

देश के प्रमुख उद्यमियों के साथ अंतरसंवेदी सत्र जिसमें सफल उद्यमी बनने के लिए अंतर्दृष्टि उपलब्ध करायी  जाती है । फिलहाल हमनें श्री सुहास गोपीनाथ (जो विश्व के सबसे युवक मुख्य कार्यपालक समझे जाते हैं), सुश्री रीता गुप्ता (सह: संस्थापक एवं जम्बो किंग प्रा. फूड के निदेशक), श्री मीनू दस्तूर (निहिलेंट टेक्नॉलॉजी के संस्थापक) एवं अन्य अनेक उद्यमी जिन्होंने विद्यार्थियों के साथ अपनी दूरदर्शिता एवं अनुभव का आदान-प्रदान किया ।

हमारा धंधा :

विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करना और अपनी खुद की फर्म स्थापित करने के लिए सभी आवश्यक समर्थन उपलब्ध कराना ताकि वे उत्तेजना, लालसा एवं सही मायनों में एक उद्यमी की चाल का अनुभव कर सकें । विभिन्न प्रखंडों में कार्य करने वाली १६ फर्में नीटी में पंजीकृत हो चुकी हैं । पंजीकृत फर्मो का संक्षिप्त विवरण यहॉ दिया जा रहा है ।

लाइव परियोजनाएं  :

नीटी के विद्यार्थियों को जम्बो किंग द्वारा ऑफर की गई लाइव परियोजनाओं पर कार्य करने का अवसर मिला था ।

भावी प्रतियोगिताएं

''विद्यार्थी उद्यम प्रतिस्पर्धा'' (एस ई सी)

इंफ्लेमर - एस ई सी विद्यार्थियों द्वारा चलायी जाने वाली उद्यमों की अनोखी प्रतिस्पर्धा है । यह बी प्लान प्रतिस्पर्धा से एक कदम आगे है । इस प्रतियोगिता में बी प्लॉन को करके बताया जाता है । यह भारत के ७० मिलियन युवा विद्यार्थियों को प्रेरित करने के लिए विद्यार्थियों की उपलब्धियों का प्रदर्शन करता है ।

सी आई ई, नीटी भारत के विभिन्न शैक्षणिक संस्थाओं के विद्यार्थी उद्यमों से नामांकन मॅगाएगा । सर्वाधिक प्रतिभावान विद्यार्थी उद्यमी का पता लगाया जाएगा और ''वर्ष के सर्वोत्तम विद्यार्थी उद्यमी'' के रुप में पुरस्कृत किया जाएगा ।

प्रतियोगिता शुरु हो गई है । विवरण के लिए यहॉ क्लिक करें